April 23, 2024

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए सरकार ने शॉर्टलिस्ट की 16 कंपनियां

1 min read

भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले को देखते हुए अब सरकार ने 16 प्रोजेक्ट को शॉर्टलिस्ट कर लिया है. इन प्रोजेक्ट्स के जरिये कोरोना को हराने की तैयारी है. बता दें कि बायोटेक्नोलॉजी इंडस्ट्री रिसर्च असिस्टेंस काउंसिल और जैव प्रौद्योगिकी विभाग ने सोमवार को घोषणा करते हुए कहा कि उन्होंने 16 प्रोजेक्ट का चयन किया है, जो कोरोना वायरस का खात्मा करने के लिए टीके, दवाओं और तकनीक पर काम करेंगी. उन्होंने बताया कि इसके लिए इन सभी प्रोजेक्ट को कोविड -19 अनुसंधान संस्थान के तहत फंड दिया जाएगा.

कोरोना वायरस की इस जंग में जिन दो प्रमुख वैक्सीन और फार्मास्युटिकल ​कंपनियों का चयन किया गया है, उनमें कैडिला हेल्थकेयर और भारत बायोटेक शामिल हैं. ये दोनों ही कंपनियां कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए टीका बनाएंगी. हालांकि ये दोनों ही कंपनियां अभी वैक्सीन बनाने के प्रीक्लिनिकल स्टेज में हैं. गौरतलब है कि दुनिया में अभी तक केवल तीन ही कंपनियां हैं जिन्होंने अपनी वैक्सीन का परीक्षण इंसानों पर करना शुरू किया है, जबकि 67 कंपनियां अभी भी प्रीक्लिनिकल स्टेज में ही हैं.

बायोटेक्नोलॉजी इंडस्ट्री रिसर्च असिस्टेंस काउंसिल ने दूसरी कंपनी भारत बायोटेक को भी वैक्सीन बनाने का काम दिया है. भारत बायोटेक कोरोना वायरस की ताकत खत्म करने के लिए निष्क्रिय रेबीज वायरस का इस्तेमाल करती है. इस तकनीक से कोरोना वायरस कमजोर पड़ने लगता है और मरीज के प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है. इससे कोरोना जैसे वायरस को हराने में मदद मिलती है. भारत बायोटेक एक और वैक्सीन पर भी काम कर रहा है जिसे नाक के जरिए शरीर के अंदर डाला जाता है और वह पूरे शरीर में फैलकर कोरोना जैसे खतरनाक वायरस का खात्मा कर देता है.

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.