May 14, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

कल्याण सिंह ने राम मंदिर भूमिपूजन को लेकर कही ये बड़ी बात

1 min read

यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह ने राम मंदिर के भूमि पूजन पर कहा कि इस बात की मुझे बहुत खुशी है, अब जाकर इतने बड़े संघर्ष के बाद सफलता मिली है.

प्रधानमंत्री जी भूमिपूजन में आ रहे हैं और मैं भी 4 अगस्त को वहां पहुंच जाऊंगा. अयोध्या विवाद पर कल्याण सिंह ने कहा कि मुझे अपने छह दिसंबर 1992 के फैसले पर गर्व है.

सरकार गिरने का कोई मलाल नहीं. वैसे भी किसी के प्रति श्रद्धा और समर्पण हो तो उसके लिए कोई भी बलिदान छोटा होता है. गोली चलवा देता तो जरूर मलाल होता.

कल्याण सिंह ने आगे कहा कि मैंने जिलाधिकारी से अपने लिखित आदेश में कहा था गोली नहीं चलनी चाहिए. मेरे माथे पर एक भी कारसेवक की हत्या आरोप नहीं इस बात की खुशी है.

राम मंदिर के साथ राष्ट्र निर्माण हो और प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत का सपना भी साकार हो. अब अंतिम इच्छा यही है कि जीवनकाल में ही राम मंदिर बन जाए. जो लोग समय पर आपत्ति जता रहे हैं उन्हें भगवान सद्बुद्धि दें.

कल्याण सिंह ने इस पीसी में खुद को राम भक्त भी बताया था. उन्होंने कहा था कि मैं पहले दिन से ही अयोध्या के विकास और राम मंदिर के निर्माण का सपना देखता रहा। मेरे जैसे करोड़ों लोगों का सपना साकार हुआ है. मैं अयोध्या जाकर रामलला के दर्शन करूंगा.

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए पांच अगस्त को भूमि पूजन होना है. भूमि पूजन की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं. भूमि पूजन में तीर्थराज प्रयागराज के त्रिवेणी संगम की मिट्टी और जल का भी इस्तेमाल किया जाएगा.

अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन की तारीख पांच अगस्त तय है. राम मंदिर का भूमि पूजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे. पीएम मोदी के अयोध्या कार्यक्रम का पूरा विवरण भी जारी कर दिया गया है.

पीएम मोदी पांच अगस्त को सुबह 11.30 बजे अयोध्या पहुंचेंगे. इसके बाद पहली बार पीएम मोदी रामजन्म भूमि रवाना होंगे. भूमि पूजन के कार्यक्रम में साधु-संतों समेत कुल 200 मेहमान शामिल होंगे.

जिन दो सौ महमानों को बुलाया गया है, उनमें से पचास साधु संत, पचास अधिकारी और पचास लोग विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) और न्यास के होंगे. भूमि पूजन के कार्यक्रम में देश के पचास गणमान्य लोगों को भी शामिल होने का न्योता भेजा गया है.

गणमान्य लोगों में पीएम मोदी के अलावा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सरसंघ चालक मोहन भागवत, बीजेपी के सीनियर लीडर लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी,

उमा भारती, विनय कटियार और साध्वी ऋतंभरा शामिल होंगी. वहीं, स्थानीय प्रशासन ने कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए कोरोना से बचने के प्रोटोकॉल्स को जरूर फॉलो करने की हिदायत दी है.

loading...

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.