January 23, 2022

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

शारदीय नवरात्र से पहले UP हो गड्ढा मुक्त : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

1 min read

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी शारदीय नवरात्र से पूर्व प्रदेश को गड्ढा मुक्त बनाने का लक्ष्य अधिकारियों को दिया है.

सीएम ने कहा कि किसी भी बीमारी में उपचार से महत्वपूर्ण बचाव और जागरूकता है. इस दृष्टि से कोविड-19 के प्रोटोकॉल का अनुपालन सबके हित में है. कोरोना की चुनौती का सामना करते हुए प्रदेश विकास परियोजनाओं को सतत जारी रखा जाएगा. उन्होंने कहा है कि बरसात का मौसम लगभग समाप्त हो चुका है. कार्ययोजना बनाकर सड़कों की गड्ढा मुक्ति का अभियान युद्धस्तर पर प्रारंभ कर दिया जाए.

See In Figures How Many Road Have Been Gaddha Mukt Till 15 June In UP Hindi  News - गड्ढ़ा मुक्त सड़कों का रिपोर्ट कार्ड, भाजपा सरकार 'फर्स्ट डिवीज़न'  पर 'मेरिट' से दूर |

मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुरादाबाद मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे. जनपद अमरोहा, बिजनौर, रामपुर, संभल और मुरादाबाद के जिलाधिकारियों से जनपद में प्रस्तावित/संचालित विभिन्न योजनाओं की प्रगति का विवरण प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री ने मंडल के जनप्रतिनिधियों से विकास कार्यों के संबंध में फीडबैक प्राप्त किया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए. जनप्रतिनिधियों के साथ समन्वय पर जोर देते हुए सीएम योगी ने कहा कि अधिकारीगण जन भावनाओं के प्रति संवेदनशील रहें और शासन की योजनाओं से जनता को लाभान्वित करना सुनिश्चित करें.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से कहा- शारदीय नवरात्र से पहले गड्ढामुक्त हों  उत्तर प्रदेश की सड़कें

योगी ने जनपद रामपुर में निर्माणाधीन राष्ट्रीय प्रशिक्षण संस्थान डूंगरपुर, को गन्ना किसानों के प्रशिक्षण केंद्र के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए. पहले यह केंद्र जनपद मुरादाबाद में प्रस्तावित था. इसके साथ ही उन्होंने जनपद संभल में तत्काल सीएमएस की तैनाती करने के लिए भी आदेश दिया. साथ ही बिजनौर में पीएसी की नई बटालियन की स्थापना को गति देने की बात भी कही.

यूपी की सड़कों का रियलिटी चेक, 15 जून तक हो पाएंगी पूरी तरह गड्ढा मुक्त ? -  up government road potholes reality check yogi adityanath promise - AajTak

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सबको आवास मुहैया कराने के संकल्पों के क्रम में केंद्र और राज्य सरकार द्वारा योजनाएं संचालित की जा रही हैं. यह योजनाएं केवल आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए है. यह सुनिश्चित किया जाए कि इन योजनाओं का लाभ केवल पात्र जनों को ही प्राप्त हो. अपात्रों को आवास आवंटन की शिकायत मिली तो संबंधित के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी.

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.