July 14, 2024

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

अर्नब गोस्वामी के मामले में सरकारी मशीनरी की नीयत पर साल्वे ने उठाए सवाल :-

1 min read

रिपब्लिक टीवी के प्रमुख संपादक अर्नब गोस्वामी ने आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में उच्चतम न्यायालय के समक्ष सुनवाई के दौरान महाराष्ट्र सरकार की मशीनरी पर बुधवार को सवाल खड़े किए। मामले की सुनवाई भोजनावकाश के लिए 45 मिनट स्थगित की गई है।

न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी की खंडपीठ याचिकाकर्ताओं- अर्नब, नीतीश शारदा और परवीन राजेश की अंतरिम जमानत बॉम्बे उच्च न्यायालय द्वारा ठुकराए जाने के फैसले के खिलाफ अपील की सुनवाई कर रही है।

अर्नब गोस्वामी ने लाइव शो पर Editor's Guild से इस्तीफा दिया

सुनवाई शुरू होते ही अर्नब गोस्वामी की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने अपने मुवक्किल के साथ हुई मुंबई पुलिस की ज्यादती और राज्य की मशीनरी के दुरुपयोग का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि अर्नब के खिलाफ प्राथमिकी 5 मई 2018 को दर्ज की गई थी। मसला यहां यह है कि मामले की फिर से जांच की शक्ति का दुरुपयोग किया गया। इसके समर्थन में उन्होंने क्लोजर रिपोर्ट पढ़कर खंडपीठ को सुनाई।

साल्वे ने कहा कि अन्वयक नायक और उसकी मां कुमुद की आत्महत्या अर्नब के उकसावे के कारण नहीं हुई, बल्कि आर्थिक तंगी में उन्होंने आत्महत्याएं कीं। उन्होंने हाल के दिनों में अर्नब के खिलाफ कई तरह के मामले दर्ज करने का भी लेखा-जोखा प्रस्तुत किया।

loading...

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.