July 21, 2024

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

कोरोना वैक्सीन पर चल रहे काम को रूसी और कोरियाई हैकरों ने बनाया निशाना :-

1 min read

माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि उसने यह पाया है कि राज्य समर्थित रूसी और उत्तर कोरियाई हैकरों ने अग्रणी दवा कंपनियों तथा टीका अनुसंधानकर्ताओं के बहुमूल्य डेटा को चुराने के प्रयास किए हैं। इसने शुक्रवार को एक ब्लॉग में कहा कि हाल के महीनों में किए गए ज्यादातर हमले विफल रहे।
प्रौद्योगिकी कंपनी ने हालांकि यह नहीं बताया कि कितने हमले सफल हुए या ये हमले कितने गंभीर थे। अमेरिका सरकार ने आपराधिक आरोपों की घोषणा करते हुए जुलाई में कहा था कि चीन के राज्य समर्थित हैकर टीका निर्माताओं को निशाना बनाते रहे हैं।

रूस ने कोरोना वायरस की क्या पहली वैक्सीन बना ली है? - BBC News हिंदी

माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि हैकरों ने जिन प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया, उनमें से ज्यादातर कनाडा, फ्रांस, भारत, दक्षिण कोरिया और अमेरिका में कोविड-19 संबंधी टीका और दवा अनुसंधान के कार्य से सीधे जुड़े हैं।
कंपनी ने राज्य समर्थित एक हैकर समूह की पहचान ‘फैंसी बीयर’ के रूप में की है जिन्हें रूसी सैन्य एजेंट बताया जा रहा है। दो अन्य की पहचान उत्तर कोरिया के ‘लैजारुस ग्रुप’ और ‘सेरियम’ के रूप में हुई है।

loading...

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.