July 10, 2024

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने लालू प्रसाद यादव के जेल से पत्र लिखने पर किये कई सवाल

1 min read

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले आरजेडी के कद्दावर नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफा देने के बाद चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने जेल से पत्र लिखा.

उन्होंने कहा कि मुझे आपके इस्तीफे पर विश्वास नहीं है और आप कहीं नहीं जा रहे. जल्द स्वस्थ्य हो जाइए फिर बैठ कर बात होगी. अब लालू यादव की ओर से पत्र लिखे जाने पर जेडीयू नेता और बिहार सरकार के मंत्री नीराज कुमार ने सवाल उठाए हैं.

रांची स्थित होटवार जेल से लिखे गये लालू प्रसाद यादव की रघुवंश बाबू के नाम  की चिट्ठी फर्जी नहीं है - News4Headlines.com

मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि सजायाफ्ता लालू प्रसाद का जेल में दरबार लगाने से मन नहीं भरा तो अब फिर जेल मैनुअल की धारा-999 की धज्जी उड़ा दी, जो स्पष्ट कहता है कि कैदी की ओर से राजनीतिक पत्र व्यवहार नहीं किया जा सकता है. फिर जेल अधीक्षक ने इसकी अनुमति कैसे दी? ये गंभीर मामला है, पर जान लें कानून के हाथ लंबे होते हैं.

रांची स्थित होटवार जेल से लिखे गये लालू प्रसाद यादव की रघुवंश बाबू के नाम  की चिट्ठी फर्जी नहीं है - News4Headlines.com

मालूम हो कि लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रहे आरजेडी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने गुरुवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. दरअसल, रघुवंश प्रसाद सिंह पार्टी में रामा सिंह की एंट्री और तेजस्वी यादव के मनमाने रवैये से काफी समय से नाराज चल रहे थे. काफी दिनों से उनका मन मनौवल भी किया जा रहा था लेकिन आखिरकार उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया.

Minister Neeraj Kumar raised questions on writing letter from jail, asked- how did the jail president allow it ann

पटना ऐम्स एमने भर्ती रघुवंश प्रसाद ने इस संबंध में खुद अपने हाथों से लालू यादव को पत्र लिखकर सूचित किया है. इधर, उनके पत्र का लालू प्रसाद यादव ने भी जवाब दिया और कहा कि आप कहीं नहीं जा रहे इस बात को समझ लीजिए. बता दें कि आरजेडी को अगड़ी जाति में सबसे ज्यादा सपोर्ट राजपूत समाज से है और रघुवंश प्रसाद सिंह बड़े राजपूत नेता हैं.

loading...

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.