December 3, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

दिवाली के अगले दिन प्रदूषण का बुरा हाल,सड़कों पर दिखा पटाखों का कूड़ा,इतने लोग बीमार…

1 min read

दिवाली का त्योहार खत्म हो गया।लोगों ने खुशी-खुशी इस दिन को मनाया,लेकिन दिवाली के अगले दिन यानी आज की सुबह सामान्य दिनों से कुछ अलग है।हवा में कुछ तीखापन है,आसमान में धुआं-धुआं सा है और सड़कें तो पटाखों के कूड़े से भरी हुई हैं।राजधानी दिल्ली हो,लखनऊ हो या फिर कोई और शहर,हर जगह का ऐसा ही हाल है।भले ही हर जगह प्रदूषण की वजह से कम पटाखे जलाने की बात हो रही हो,स्वच्छता अभियान को लेकर माहौल बनाया जा रहा हो लेकिन इसका कोई असर नहीं दिख रहा है।राजधानी दिल्ली में हर बार की तरह इस बार भी दिवाली की अगली सुबह कुछ खास नहीं रही।बल्कि प्रदूषण की वजह से कई लोग बीमार हो गए।

रविवार को शुरुआत में तो दिल्ली में कम पटाखे जले,सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर इस बात की बधाई दे दी थी।लेकिन 8 बजे के बाद दिल्ली में फिर पटाखों की धूम दिखी,सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना की गई।और अब सोमवार की सुबह दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पीएम 10 और पीएम 2.5 लेवल 950 तक पहुंच गया।


ITO इलाके में रविवार देर रात के वक्त पीएम 10 और पीएम 2.5 का स्तर 900 तक पहुंचा,वहीं सुबह के वक्त यह आंकड़ा 255 स्तर पर भी पहुंचा।255 भी प्रदूषण के लिहाज से खतरनाक स्थिति है।

लखनऊ में भी दिवाली का त्योहार धूमधाम से मनाया गया।लेकिन अगली सुबह की जो तस्वीरें सामने आई वो चेहरे पर खुशी नहीं लाती हैं।जिससे प्रदूषण की वजह से कई लोग बीमार हुए।लखनऊ नगर निगम के पास ही दिवाली के अगले दिन सड़कों पर कूड़ा फैला हुआ है,हर जगह पटाखों का कूड़ा पड़ा है जो साफ दिखाता है कि रविवार रात को दिवाली तो धूमधाम से मनाई गई लेकिन इस बीच ना प्रदूषण का ख्याल रखा गया और ना ही स्वच्छता अभियान का।ना सिर्फ लखनऊ, बल्कि दिल्ली,मुरादाबाद समेत कई बड़े शहरों का यही हाल है।जहां पर सड़कों पर पटाखों का कचरा गिरा हुआ है।

दिवाली के अगले दिन हवा थोड़ी ज़हरीली हो रही है और लोग इससे बचने के लिए एक बार फिर मास्क निकाल चुके हैं।दिल्ली हो या फिर गाज़ियाबाद हर जगह सोमवार सुबह बाजार या दफ्तर की तरफ निकलते हुए मास्क लगाते हुए नज़र आए।हालांकि,नॉर्थ इंडिया से इतर मुंबई में दिवाली का अगला दिन इतना खतरनाक नहीं है।यहां एयर क्वालिटी इंडेक्स गुड की कैटेगिरी में आया है।

दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर से लगातार अपील की जा रही थी कि इस बार दिल्ली वाले पटाखे ना जलाएं और वातावरण को प्रदूषित ना करें। हालांकि,इसका असर नहीं दिखा।

ये है वायु प्रदूषण मापने का पैमाना – एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI)

0-50 अच्छा

51-100 संतोषजनक

101-200 मध्यम

201-300 खराब

301-400 बेहद खराब

401-500 खतरनाक

दिल्ली में हवा की क्वालिटी लगातार बिगड़ने का मुख्य कारण हरियाणा,उत्तर प्रदेश,पंजाब के इलाकों में पराली जलाना भी है।

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.