April 15, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

देखे प्याज के दम पहुचे सातवे आसमान पर, बंगलौर में 200 रूपये किलो बिक रही है प्याज !

1 min read

भारत को सालाना 150 लाख मीट्रिक टन प्याज की जरुरत पड़ती है. कर्नाटक में 20.19 लाख मीट्रिक टन प्याज का उत्पादन होता है. उत्पादन व फसल पकने के बाद हुए नुकसान को देखा जाए तो इस साल तक़रीबन 50 फीसदी प्याज नष्ट हो गया है. नवंबर में कर्नाटक के बाजारों में एक दिन में 60-70 क्विंटल प्याज प्राप्त हुआ, जो दिसंबर में 50 प्रतिशत तक नीचे आ गया.

भारत को वार्षिक 150 लाख मीट्रिक टन प्याज की आवश्यकता है. कर्नाटक में 20.19 लाख मीट्रिक टन प्याज का उत्पादन होता है. उत्पादन व फसल पकने के बाद हुए नुकसान को देखा जाए तो इस बार लगभग 50 फीसदी प्याज बर्बाद हो गया है.

सिद्दांगैया ने कहा, “थोक और खुदरा विक्रेताओं के पास बहुत ज्यादा स्टॉक नहीं बचा है. आश्चर्यजनक रूप से कर्नाटक में प्याज भंडारण सुविधाएं अच्छी नहीं हैं.”

इस बीच कर्नाटक के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने जमाखोरों पर नकेल कसने के लिए छापेमारी शुरू कर दी है.


loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.