May 8, 2024

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

स्विटजरलैंड से कम नहीं पटनीटॉप के दिलकश नजारे, कड़ाके की ठंड की चेतावनी

1 min read

उत्तर भारत के उच्चवर्ती इलाकों में हुई बर्फबारी से पर्यटकों की बांछें खिल गई हैं। कश्मीर में शीशे के बंद केबिन से बर्फ से ढके गगनचुंबी चीड़ और देवदार के पेड़ और चारों ओर बर्फ से ढंकी चोटियों के नजारे किसी के लिए भी यादगार हो सकते हैं। करीब दस मिनट का यह सफर कर जब हिमालय की शिवालिक चोटियों में समुद्र तल से 6640 फुट की ऊंचाई पर खत्म होता है, तो सामने आते हैं बर्फ से ढके पटनीटॉप के दिलकश नजारे, जो स्विटजरलैंड की सैर से कम नहीं लगते। जम्मू संभाग में पिछले दो दिनों में हुई बर्फबारी के बाद इन्हीं नजारों का लुत्फ उठाने के लिए पर्यटकों ने पटनीटॉप की ओर रुख कर लिया है। जम्मू के स्थानीय लोगों के अलावा पंजाब और अन्य राज्यों से भी बड़ी संख्या में पर्यटक रविवार को पटनीटॉप पहुंचे हुए थे।

बर्फबारी से मुनस्यारी में जगी स्कीइंग की उम्मीद

उत्तराखंड में हुई ताजा बर्फबारी से पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी में स्कीइंग की उम्मीद जगने लगी है। मुनस्यारी के पास साढ़े दस हजार फीट की ऊंचाई पर खलिया टॉप और बिटलीधार नामक ढलानों पर तीन से चार फीट बर्फ है। इससे स्कीइंग की आयोजक संस्था कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) उत्साहित है। प्रदेश में औली के बाद मुनस्यारी ही स्कीइंग के लिए उपयुक्त है। औली में स्कीइंग के लिए बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध हैं, लेकिन मुनस्यारी में इनका अभाव है। बावजूद इसके विगत 28 वर्षों से स्कीइंग का आयोजन किया जा रहा है।

केएमवीएन के प्रबंधक (साहसिक पर्यटन) दिनेश गुरुरानी ने बताया कि केएमवीएन वर्ष 1991 से यहां पर स्कीइंग का आयोजन कर रहा है। यदि मौसम ने साथ दिया तो अगले सप्ताह से स्कीइंग कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि मुंबई, पुणे, बंगलुरू, कोलकाता और दिल्ली से पर्यटक फोन पर जानकारी ले रहे हैं।

क्रिसमस व न्यू ईयर के लिए पैक हुए हिमाचल के होटल 

क्रिसमस व न्यू ईयर का जश्न मनाली में बिना बुकिंग मनाना आपकी खुशियों में खलल डाल सकता है। पर्यटन नगरी के इन दोनों दिन के लिए होटलों में धड़ाधड़ ऑनलाइन बु¨कग हो रही है। अब तक पर्यटन नगरी के 65 फीसद होटल पैक हो चुके हैं। अब धीरे-धीरे पर्यटकों ने मनाली का रुख करना भी शुरू कर दिया है। हाल ही में हुई बर्फबारी के बाद से एकाएक पर्यटकों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। इससे पर्यटन व्यवसाय से जुड़े कारोबारियों के चेहरे खिल उठे हैं।

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख में कड़ाके की ठंड

तीन दिन तक उच्च पहाड़ी क्षेत्रों में हुई बर्फबारी और भारी बारिश थमने के बाद जम्मू-कश्मीर, लद्दाख शीतलहर की चपेट में है। रविवार को मौसम साफ होने के बावजूद जम्मू-श्रीनगर, श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग के अलावा पुंछ से कश्मीर को जोड़ने वाला मुगल रोड लगातार चौथे दिन भी बंद रहा। रात के तापमान में भारी गिरावट आई है। जम्मू का रात का न्यूनतम तापमान रिकॉर्ड 5.8 डिग्री तक गिर गया। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर दिनभर बर्फ, पहाड़ों से गिरे मलबे को हटाने का कार्य चलता रहा। हाईवे हजारों वाहन फंसे हुए हैं। ट्रैफिक पुलिस कंट्रोल रूप से मिली जानकारी अनुसार मौसम साफ रहा तो सोमवार को फंसे सभी वाहनों को प्राथमिकता पर निकाला जाएगा।

इतना रहा तापमान

जगह न्यूनतम तापमान

गुलमर्ग -11.3

लेह -13.7

द्रास -19.5

शहर में जलजमाव से लोग परेशान

Jharkhand Weather Update बारिश के दौरान शहर के कई इलाकों में जल-जमाव की समस्या उत्पन्न हो गई। इससे लोगों को सड़क पर चलने में काफी परेशानी हो रही है। अलबर्ट एक्का चौक, मेन रोड में हनुमान मंदिर के पास, डेली मार्केट सहित कई जगहों पर पानी सड़क पर बहने लगा। इससे उस इलाके के दुकानदारों के साथ-साथ सड़क पर चलने वाले लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.