April 11, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

जामिया और AMU के बाद लखनऊ के नदवा कॉलेज में भी भड़की हिंसा

1 min read

देश में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध के नाम पर हिंसा की आग भड़कती जा रही है। असम और बंगाल से शुरू हुई हिंसा की लपटों ने रविवार को राजधानी दिल्ली और अलीगढ़ को भी चपेट में ले लिया। अब लखनऊ में भी हिंसा भड़क गई है। लखनऊ में नदवा कॉलेज में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा। यहां पथराव से भगदड़ मच गई है।पुलिस ने कॉलेज का गेट बाहर से बंद कर दिया है। प्रदर्शनकारियों द्वारा जामिया के छात्रों के समर्थन में नारे लगाए गए।

हैदराबाद में भी विरोध प्रदर्शन

हैदराबाद: मौलाना आज़ाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी (MANUU) के छात्रों ने नागरिकता संशोधन कानून और जामिया के छात्रों के समर्थन में विरोध प्रदर्शन किया।

स्थिति अब सामान्य

पुलिस अधीक्षक लखनऊ, कलानिधि नैथानी ने बताया, लगभग 30 सेकंड के लिए पथराव हुआ था जब लगभग 150 लोग विरोध करने और नारे लगाने के लिए सामने आए थे। स्थिति अब सामान्य है। छात्र अपनी कक्षाओं में वापस जा रहे हैं।

नदवा कॉलेज में विरोध प्रदर्शन जारी

 नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ नदवा कॉलेज में विरोध प्रदर्शन जारी है।पुलिस ने कॉलेज का गेट बाहर से बंद कर दिया है। प्रदर्शनकारियों द्वारा जामिया के छात्रों के समर्थन में नारे लगाए गए।

सोमवार सुबह छात्र फिर से सड़क पर उतरे

सोमवार सुबह छात्र फिर से सड़क पर उतर आए और प्रदर्शन करने लगे।  मौके पर डीएम और एसपी डटे हुए हैं। लखनऊ में नदवा कॉलेज में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा है। यहां पथराव से भगदड़ मच गई है।

  • करीब पांच सौ छात्रों के समूह ने गोमती बंधे पर जाम लगा दियारविवार रात करीब पांच सौ छात्रों के समूह ने गोमती बंधे पर जाम लगा दिया। हंगामे में स्थानीय लोग भी शामिल हो गए। काफी देर तक चले हंगामे की जानकारी पुलिस को नहीं थी। एएसपी ट्रांसगोमती राजेश कुमार श्रीवास्तव से जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हंगामे या सड़क जाम की कोई घटना नहीं हुई है। 
  • 11:22 AMलखनऊ में भी हंगामा दिल्ली के जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी में हुए लाठीचार्ज का मामला लखनऊ तक पहुंच गया है। रविवार देर रात शुरू हुआ हंगामा सोमवार को भी जारी रहा। नदवा कॉलेज के छात्रों ने परिसर के बाहर प्रदर्शन किया।
  • 11:16 AMविपक्षी दलों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात के लिए समय मांगानागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देश के मौजूदा हालात से अवगत कराने के लिए विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात के लिए समय मांगा।
loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.