October 25, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

नीतीश कुमार ने मुस्कराते हुए दिया जवाब महाराष्ट्र के सियासी हंगामे के सवाल पर

1 min read

बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार से महाराष्ट्र की राजनीतिक घटनाक्रम पर पत्रकारों ने सवाल किया तो उन्होंने कहा कि हम लोगों को क्या मतलब है? उनसे महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने पर सवाल किया गया था. पटना में जवाहर लाल नेहरू की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद नीतीश ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाये जाने पर कहा कि जब कोई सरकार नहीं बना रहा तो क्या करें? फिर उन्होंने कहा कि जो तीन पार्टियां हैं, उन तीनों को तय करना है हम लोगों को इससे क्या मतलब? लेकिन नीतीश कुमार यह बयान देते हुए अपने चेहरे पर मुस्कान नहीं छुपा पाए.

महाराष्ट्र: जिस 50-50 फॉर्मूले पर टूटा BJP-शिवसेना का गठबंधन, अब उसी ब्लूप्रिंट पर राज्य में बन सकती है नई सरकार 

नीतीश कुमार के बयान से साफ है कि महाराष्ट्र की राजनीति में जदयू का कुछ लेना-देना बेशक न हो, लेकिन महाराष्ट्र में भाजपा की सरकार नहीं बनने का उन्हें कोई गम नहीं है. इसका उदाहरण जदयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने तब दिया था जब उन्होंने मांग की थी कि भाजपा को अब समन्वय समिति बनानी चाहिए, जिससे सहयोगियों के साथ बेहतर तालमेल हो सके.

गृहमंत्री अमित शाह बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगना इसलिए जरूरी था क्योंकि…

टिप्पणियां

जदयू को लगता है कि केंद्र में भाजपा को बहुमत मिलने के बाद वह अपने सहयोगियों को तवज्जो नहीं दे रही है. लोकसभा में 40 में से 39 सीटें जीतने के बाद भी भाजपा ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में जदयू की अनुपातिक प्रतिनिधित्व की मांग को ठुकरा दिया था.

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.