June 21, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

देश में एक दिन में सामने आए 221 संक्रमित मामले,आज दो की मौत

1 min read

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को कोरोना से जम्मू-कश्मीर, गुजरात और महाराष्ट्र में एक-एक लोगों की मौत हो गई। देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 979 हो गई है। इसमें 86 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। वहीं केरल के त्रिवेंद्रम में मास्क की कीमत तय हो जाने के बाद इसकी बिक्री नहीं हो रही है। इंदौर में अब पूरी तरह लॉकडाउन हो गया है। तीन स्वास्थ्य और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने कल पुसुगुदेम गाँव से सात किलोमीटर पैदल चलकर एक गर्भवती आदिवासी महिला को स्ट्रेचर के सहारे कंधे पर उठाकर वहां के एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तक लाया।

तेज प्रसव पीड़ा महसूस होने पर श्रमिकों ने महिला की मदद की पंजाब में कर्फ्यू प्रतिबंधों के बीच अपने वित्तीय लेनदेन में लोगों की सुविधा के लिए 30 और 31 मार्च को बैंक खुले रहेंगे। वहीं, तीन अप्रैल से सभी बैंक शाखाएं सप्ताह में केवल दो दिन रोटेशन के आधार पर खुली रहेंगी अब तक देश में 979 कोरोना मामलों की पुष्टि हुई है, जिनमें 25 मौतें भी शामिल हैं। पिछले 24 घंटों में 106 नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं, जबकि छह लोदगों की मौत हो गई है: लव अग्रवाल, संयुक्त सचिव, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय कोरोना वायरस का कहर जैसे-जैसे बढ़ रहा है, इसे लेकर लोगों के मन में भी काफी खौफ बढ़ने लगा है।

ताजा मामला कर्नाटक के मंगलूरू का है जहां एक शख्स ने कोरोना के संक्रमण की आशंका में रिपोर्ट आने से पहली ही आत्महत्या कर ली। कर्नाटक में उडुपी जिले के उपूर में कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका से खुदकुशी कर लेने वाले एक व्यक्ति की इस संबंध में की गई जांच की रिपोर्ट निगेटिव आई है।कोरोना वायरस से निपटने के लिए लगाए गए 21 दिनों के लॉकडाउन के बावजूद पलायन को लेकर केंद्र सरकार ने सख्ती दिखाई है।

केंद्र सरकार ने कहा है कि लॉकडाउन का पालन करवाना जिला मजिस्ट्रेट और एसपी की जिम्मेदारी है। केंद्र सरकार की तरफ से आदेश दिया गया है कि सभी राज्यों और जिलों की सीमाएं सील कर दी जाएं और बाहर से आने वाले लोगों को राज्य की सीमाओं पर ही कैंपों में रखा जाए। केंद्र सरकार ने यह भी कहा है कि काम करने आने वाले मजदूरों के रहने का इंतजाम किया जाए और उनको समय से भुगतान किया जाए। साथ ही सरकार ने कहा है कि छात्रों और मजदूरों को जगह खाली करने के लिए कहने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.