June 23, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

भारत में कोरोना वायरस का कहर जारी। ……

1 min read

पूरी दुनिया में कहर मचाने वाले खतरनाक कोरोना वायरस का प्रकोप भारत में भी लगातार बढ़ता ही जा रहा है। देश में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या में इजाफा हो रहा है और यह आंकड़ा लगभग 1300 पर पहुंच गया है। इस खतरनाक कोविड-19 महामारी से अब तक देशभर में जहां 35 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 123 लोग पूरी तरह से ठीक भी हुए है अब अगर हम बात करे तो कोरोना वायरस इन दिनों हर किसी के दिमाग में है और हमारे सभी समाचारों पर कब्जा कर लिया है तो अब सभी को ध्यान में रखते हुए, खुद को और दूसरों को बचाने के तरीके खोजने के अलावा और कुछ समझ भी नहीं आ रहा है हम इस महामारी से बचने के लिए दूसरे देशों से क्या सबक ले रहे हैं जो गलती उन्होंने की वो हम ना करे इसके लिए देश के प्रधान मंत्री ने 21 दिन का लोक् डाउन किया ताकि स्थिति ख़राब ना हो। …. हम आप सभी से अपील करते है की घर पे रहे और safe रहे। …. आइये समझाते है एक छोटी सी स्टोरी के माध्यम से

जब हम एक दूसरे से मुलाकात करते थे विदा लेते थे जश्न मनाते थे या शोक मनाते थे तब हम एक दूसरे के गले लगते थे।
परंतु इस कोरोना वायरस ने हमसे यह सब छीन लिया।
कल तक जो हाथ मिलाना हमारे लिए सामान्य था वहीं आज एक गैर जिम्मेदाराना हरकत लगने लगी है।
लोगों से दूरी बनाकर रखना अब नया आदर्श बन गया है।
COVID 19 के प्रकोप ने लोगों को मास्क पहनने एवं हैंड सैनिटाइजर खरीदने पर मजबूर कर दिया।
ऐसे समय में विश्व ने भारतीय संस्कृति की ओर अपना रुख किया और दोनों हाथ जोड़कर प्रणाम करके लोगों का अभिनंदन करने लगे।
खुद को एवं अपने शुभचिंतकों को सुरक्षित रखने के लिए लोगों ने हाथ धोना भीड़ में ना जाना एवं घर पर रहने का फैसला लिया।
इसी बीच हमारे प्रधानमंत्री जी ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाया और देशव्यापी लॉक डाउन का ऐलान कर दिया।
साथ ही सभी भारत वासियों ने चिकित्सकों सुरक्षाकर्मियों और सफाई कर्मियों के कार्यो की सराहना की और तालियों के साथ उनका हौसला बढ़ाया।
वहीं दूसरी तरफ ऐसा लग रहा है कि कुदरत COVID 19 के रूप में मानव द्वारा पशुओं पक्षियों और पर्यावरण पर हो रहे अत्याचार का बदला लेने के लिए उठ खड़ा हुआ है।
इसलिए आप सभी भारत के जिम्मेदार नागरिकों से अनुरोध करती हू कि कुछ दिनों के लिए अपने घरों में रहे और सभी को इस आपदा से मुक्ति दिलाएं।

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.