April 16, 2024

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

देश में कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ते जा रहा है और हर दिन कोविड-19 के मामलों में बड़ा इजाफा देखने को मिल रहा है। कोरोना संकट के इस दौर में खतरनाक महामारी के कहर से लोगों की जान बचाने के लिए स्वास्थ्यकर्मी अपनी जान की बाजी लगा कर डटे हुए हैं, मगर कुछ लोग हैं कि उन पर पत्थर बरसा रहे हैं और थूक रहे हैं। ताजा मामला मध्य प्रदेश के इंदौर का है, जहां कोरोना वायरस के मद्देनजर एक बुजुर्ग महिला की स्क्रीनिंग करने गए स्वास्थ्य कर्मियों की टीम पर पत्थर बरसाए गए और उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर मारा गया है। बता दें कि इससे पहले भी कोरोना लॉकडाउन में स्वास्थ्यकर्मियों और पुलिस की टीम पर देश के अलग-अलग हिस्सों से हमले की खबर आ चुकी है

आपको बतादे की कोरोना वायरस से संदिग्ध एक बुजुर्ग महिला को लेने स्वास्थ्य कर्मियों की टीम आई जिसमें डॉक्टर, नर्स और आशा कार्यकर्ता शामिल थे जिसका वहां के लोगों ने विरोध किया और लोगों ने पथराव कर दिया। उन्होंने लाठी-डंडों से उनका पीछा किया और फिर किसी तरह स्वास्थ्यकर्मियों की टीम जान बचाते भागी। बता दें कि यह घटना ऐसे वक्त में हुई है जहां पूरा देश डॉक्टरों के लिए तालियां बजा रहा है और उनके योगदान को सराह रहा है, मगर वहीं कुछ लोग इन्हें गालियां भी दे रहे हैं और पत्थर भी मार रहे हैं। आप देख सकते है इस वीडियो में कि कैसे स्वास्थ्य कर्मियों की टीम पर भीड़ हमला करने के लिए दौड़ती दिख रही है

हाालंकि, इस घटना के बाद पुलिस पहुंची पुलिस ने कुछ लोगों पर केस भी दर्ज किया है बता दें कि इंदौर में कोरोना वायरस के मामलों में लगाता इजाफा हो रहा है और यह आंकड़ा 75 हो गया है। बुधवार को 12 नए मामले सामने आए दरअसल, यह पहला मामला नहीं है, जिसमें कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में अगली कतार में खड़े स्वास्थ्य कर्मियों के साथ बदसलूकी की घटना हुई है। इससे पहले दिल्ली के मरकज में तबलीगी जमाती के लोगों ने भी स्वास्थ्य कर्मियों पर थूका डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया ये सभी के लिए एक शर्म की बात है। ….

loading...

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.