June 22, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

बिहार में Corona को हराने की मुहिम 4 जिलों में शुरू की डोर टू डोर स्क्रीनिंग

1 min read

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि गुरुवार से स्वास्थ्य विभाग की टीम बिहार के 4 जिले सीवान, बेगूसराय, नवादा और नालंदा में घर-घर जाकर संदिग्धों की स्क्रीनिंग करेगी। यह प्रक्रिया दो चरणों में अगले आठ दिनों में संपन्न करायी जाएगी। बिहार पहला राज्य है, जहां घर-घर जाकर कोरोना संदिग्धों की जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि संदेह होने पर आगे आकर अपनी जांच कराएं और घर-घर जाने वाली स्वास्थ्य विभाग की टीम की मदद करें, ताकि जल्द से जल्द राज्य में कोरोना पर काबू पाया जा सके।

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार में कोरोना से संघर्ष के बाद विजय पाने वालों की संख्या 37 हो गयी है। बुधवार को एनएमसीएच में इलाजरत आठ कोरोना मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हो गए। इनमें सीवान के छह और गया तथा गोपालगंज के एक-एक मरीज शामिल हैं। गुरुवार को एनएमसीएच से सभी को डिस्चार्ज किया जाएगा। बुधवार को जारी बयान में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह बिहार सरकार और जनता की कोरोना से मजबूती के साथ जारी लड़ाई का सुखद परिणाम है। बिहार में 50 फीसदी से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं।

एम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती महिला और एक तीन साल की बच्ची की मौत हो गयी। दोनों मरीजों की कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। नोडल पदाधिकारी डॉ. नीरज अग्रवाल ने बताया कि दोनों की मौत दूसरी बीमारियों के कारण हुई है। दोनों को कोरोना के संदेह में आइसोलेशन वार्ड में इलाज चल रहा था। दोनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। महिला को ब्लड प्रेशर, सांस लेने में परेशानी थी। वहीं बच्ची को निमोनिया हो गया था, जिसका इलाज दौरान मौत हो गयी। वहीं आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीज का बुधवार को निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया गया। उधर, एम्स पटना में बुधवार को 38 लोगों की फ्लू की जांच की गई। आठ लोग संदिग्ध पाए जाने पर सभी को एम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है।

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.