June 22, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

निर्भया की मां आशा देवी ने शीर्ष अदालत से अपराधियों को फांसी की सजा में……

1 min read

साल 2012 के निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में दोषी अक्षय सिंह की डेथ वारंट पर रोक की याचिका पर सुनवाई से पहले पीड़ित निर्भया की मां आशा देवी ने कहा है कि मैं 7 साल 3 महीने से संघर्ष कर रही हूं। वो कहते हैं हमें माफ कर दो। कोई कहता है कि मेरे पति, बच्चे की क्या गलती है। मैं कहती हूं कि मेरी बच्ची की क्या गलती थी? आपको बता दें कि दोषी पवन कुमार गुप्ता की सुधारात्मक याचिका पर भी आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है

पवन समेत तीन अन्य दोषियों को तीन मार्च को फांसी होने वाली है निर्भया मामले में चारों दोषियों की फांसी तीन मार्च को अटक सकती है। इसके पीछे वजह है दोषियों की याचिकाएं जो कोर्ट में लंबित हैं। वहीं, अक्षय ने नई चाल चलते हुए राष्ट्रपति के समक्ष फिर से दया याचिका दायर की है जबकि राष्ट्रपति अक्षय की इससे पहले दया याचिका खारिज कर चुके हैं।

अक्षय के वकील एपी सिंह का कहना है कि राष्ट्रपति ने जो दया याचिका खारिज की थी वह अपूर्ण थी। इसलिए दोबारा हमने राष्ट्रपति से दया की याचिका की है। साल 2012 के निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले में दोषी अक्षय सिंह की डेथ वारंट पर रोक की याचिका पर सुनवाई से पहले पीड़ित निर्भया की मां आशा देवी ने कहा है कि मैं 7 साल 3 महीने से संघर्ष कर रही हूं। वो कहते हैं हमें माफ कर दो। कोई कहता है कि मेरे पति, बच्चे की क्या गलती है। मैं कहती हूं कि मेरी बच्ची की क्या गलती थी? आपको बता दें कि दोषी पवन कुमार गुप्ता की सुधारात्मक याचिका पर भी आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है

वहीं, अक्षय ने नई चाल चलते हुए राष्ट्रपति के समक्ष फिर से दया याचिका दायर की है जबकि राष्ट्रपति अक्षय की इससे पहले दया याचिका खारिज कर चुके हैं। अक्षय के वकील एपी सिंह का कहना है कि राष्ट्रपति ने जो दया याचिका खारिज की थी वह अपूर्ण थी। इसलिए दोबारा हमने राष्ट्रपति से दया की याचिका की है बता दें कि पवन ने अपराध के समय खुद के नाबालिग होने का दावा करते हुए फांसी को उम्रकैद में बदलने का अनुरोध किया है। पवन ने वकील ए पी सिंह के जरिए सुधारात्मक याचिका दाखिल कर मामले में अपीलों और पुनर्विचार याचिकाओं पर उच्चतम न्यायालय के फैसले को खारिज करने का अनुरोध किया है।

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.