August 9, 2022

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

बतादे की पिछले कई महीनों से समाजवादी पार्टी के लोग जिस तस्वीर को देखने की इच्छा जाता रहे थे, वह मंगलवार को सामने आई. होली के मौके पर मुलायम सिंह यादव का पूरा परिवार एक साथ सैफई में नजर आया, लेकिन सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनके चाचा प्रसपा प्रमुख के बीच कड़वाहट की बर्फ पिघलती नहीं दिखी. अखिलेश यादव जैसे ही मंच पर समर्थकों को संबोधित करने के लिए खड़े हुए, कार्यकर्ताओं ने चाचा-भतीजा जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए. इससे नाराज अखिलेश ने इशारों में उन्हें शांत रहने के लिए कहा और बोले सीमा पार नहीं करनी चाहिए

मंच पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अखिलेश कह रहे थे कि साल 2022 में समाजवादियों की सरकार बनानी है. इसके बाद समर्थकों ने चाचा-भतीजा जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए. इस पर अखिलेश यादव ने हाथों से इशारा कर शांत रहने के लिए कहा. नारे से नाराज अखिलेश ने कहा कुछ मर्यादा और परम्परा बना रहना चाहिए. कोई बात सीमा से पार नहीं होनी चाहिए.

जब बात सीमा से पार होती है तो राजनीत अपना रास्ता देखती है. समाजवादियों ने जो पैमाना तय किया है, उसमें बड़ी-बड़ी सड़क और बड़े-बड़े अस्पताल हैं. छोटी-मोटी बातों में खुशहाली नहीं है हालांकि, इससे पहले शिवपाल यादव के मंच पहुंचे तो अखिलेश यादव ने शिवपाल यादव के पैर छुए, लेकिन उन्हें आशीर्वाद नहीं मिला. इस बीच शिवपाल ने भी बड़े भाई रामगोपाल यादव का भी पैर छुआ.

इसके बाद यह संदेश गया कि मुलायम कुनबा एक हो रहा है.इस दौरान शिवपाल ने कहा कि साल 2022 के चुनाव में हम सब एक साथ चुनाव लड़ेंगे. सबको इकट्ठा करेंगे और सभी पार्टियां भाजपा को हराने का काम करेंगे. हमारी पहली प्राथमिकता समाजवादी पार्टी होगी, जिसके साथ हम चुनाव लड़ेंगे

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.