May 14, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ के अधिकारी का कहना, केपीएल तब तक फिर से शुरू नहीं होगा,

1 min read

क्रिकेट में भ्रष्टाचार को लेकर काफी सख्ती बरतने की बातें की जाती हैं. इसी सिलिसले में कर्नाटक कर्नाटक प्रीमियर लीग (Karnataka Premier league) में हुए सट्टेबाजी के घोटाले ने काफी हलचल मचा रखी है. कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (KSCA)  के एक अधिकारी का कहना है कि केपीएल का अगला सीजन  तब तक नहीं खेला जाएगा जब तक इस सीजन हुए करोड़ों के सट्टेबाजी घोटाले की पुलिस जांच पूरी नहीं हो जाती. 

क्या कहा अधिकारी ने
कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) के कोषाध्यक्ष विनय मृत्युंजया ने गुरूवार को बताया, “जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती और पुलिस की तरफ से अंतिम रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक हम निश्चित तौर पर केपीएल का अगला सीजन आयोजित नहीं करेंगे.”

बेंगलुरू पुलिस ने भी मांगी है विस्तार से जानकारी
बेंगलुरू पुलिस ने क्रिकेट संघ को नोटिस भेज कर लीग के बारे में विस्तृत जानकारी मांगी है. विनय ने कहा, “पुलिस ने हमसे टूर्नामेंट से संबंधित कई तरह की जानकारी मांगी है. टीमों, स्कोरकार्ड, खिलाड़ियों का विवरण, फोन नंबर, सभी मैचों की वीडियो फुटेज आदि मांगी गई है.”

इन आरोपों का अभी तक नहीं मिला संकेत
कोषाध्यक्ष ने साफ कर दिया कि न ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और न ही राज्य संघ को कहीं से भी सट्टेबाजी, हनीट्रैप, बुकी द्वारा विदेश यात्राएं कराना, स्पॉट फिक्सिंग जैसी चीजों का संकेत मिला था.
ऐसे भी आरोप थे कि इस लीग में खेलने वाले खिलाड़ियों को मैच फीस की तुलना में स्पॉट फिक्सिंग से ज्यादा पैसे मिल रहे थे. इन आरोपों पर विनय ने कहा, “हमें इस बात को देखना होगा, इस संबंध में हमारे पास कोई पुख्ता जानकारी नहीं है.”

चियरगर्ल्स की भूमिका पर भी हैं सवाल
विनय के मुताबिक, हनीट्रैप करने के संदेह के घेरे में आई चियरगर्ल्स से केएससीए कोई लेना देना नहीं है.  उन्होंने कहा, “हम नहीं जानते, पुलिस जानती होगी. केएससीए ने कभी भी किसी चीयर गर्ल को नहीं रखा, इन्हें टीमें नियुक्त करती हैं.” केपीएल में सट्टेबाजी की जांच कर रहे सेंट्रल क्राइम ब्रांच के संयुक्त आयुक्त संदीप पाटिल से जब पूछा गया कि क्या हनीट्रैप करने के मामले में किसी चीयर गर्ल की पहचान हुई है तो उन्होंने इसकी पुष्टि करने से इनकार किया. पाटिल ने कहा, “मैं इस समय आपको कुछ नहीं बता सकता. एक बार जब चीजें साफ हो जाएंगी तो मैं आपको बता दूंगा.”

ऐसे मिली है आरोपों को हवा
स्थानीया मीडिया रिपोर्ट की मानें तो बेंगलुरू पुलिस आयुक्त भास्कर राव ने कहा है कि सट्टेबाजों और फिक्सरों ने हनीट्रैप कर क्रिकेटरो को फंसाया और उनके निजी पलों को रिकार्ड किया.

loading...

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.