June 22, 2021

Sarvoday Times

Sarvoday Times News

देश की सीमाओं पर भी दिखा कोरोना वायरस का असर

1 min read

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या तीन लाख 50 हजार से अधिक हो गई है। एएफपी के आंकड़ों के मुताबिक पिछले वर्ष के अंत में महामारी के फैलने के बाद से सोमवार तक इतने मामले सामने आए हैं। पूरी दुनिया में कम से कम तीन लाख 50 हजार 142 संक्रमण और 15,873 मौतें हुई हैं इनमें से अधिकतर मामले चीन (81,093) और इटली (63,927) में सामने आए। हालांकि, आधिकारिक आंकड़े वास्तविक संख्या का कुछ प्रतिशत ही हो सकते हैं क्योंकि कई देश ऐसे मामलों की ही जांच कर रहे हैं जिनमें अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत है। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के मद्देनजर अपने अनुभवों को साझा करने के लिए दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन के वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी बृहस्पतिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस करेंगे।

विदेश मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रवेश बिंदुओं पर स्क्रीनिंग के तहत विशिष्ट प्रोटोकॉल से निपटने, संपर्क का पता लगाने और पृथक रखे जाने की सुविधाओं आदि पर चर्चा होगी। कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल के बाद 15 मार्च को दक्षेस नेताओं के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंस हुई थी फ्रांस में कोरोना वायरस से 186 और लोगों की मौत हो गई है। विदेश मंत्री ने सोमवार को बताया कि इन मौतों के साथ ही देश में इस महामारी से मरने वालों की कुल संख्या 860 हो गई है। फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री आलिवियर वेरान ने कहा कि फ्रांस में 19 हजार 856 लोग पॉजिटिव पाए गए।

इनमें से 8675 लोग अस्पताल में भर्ती हैं जिनमें से 2082 की गहन चिकित्सा की जा रही है।वहीं, दिल्ली से दीपक गुप्ता और हिमाचल से अजमेर सिंह भी इनमें शामिल हैं। दुबई में भारत के राजदूत नीरज अग्रवाल ने बताया कि वे हालात से वाकिफ हैं, लेकिन फिलहाल वे उन्हें भारत नहीं भेज सकते। हवाईअड्डे के होटल भरे हैं, जिससे ठहरने की व्यवस्था भी संभव नहीं है। क्षेत्रीय प्रशासन से लगातार संपर्क कर उनकी दिक्कतें दूर करने का प्रयास किया जा रहा है।

संक्रमण रोकने के लिए सऊदी अरब के राजा सलमान ने देश भर में सोमवार से कर्फ्यू का ऐलान किया है, जो शाम सात बजे से सुबह छह बजे तक लागू रहेगा। इसे 21 दिन तक लागू रखा जाएगा। यहां 511 मामले मिले हैं, जो खाड़ी क्षेत्र में मिले 1300 मामलों में सर्वाधिक हैं। स्वास्थ्य कर्मियों को र्फ्यू से राहत दी गई है। इससे पहले इस्लाम की सबसे पवित्र जगहों मक्का और मदीना को छोड़कर पूरे देश की मस्जिदों में नमाज पर रोक लगा दी गई थी।

क्षेत्रीय नेताओं ने चीन के वन बेल्ट वन रोड मिशन का भी विरोध शुरू कर दिया है। चीन इस मिशन के तहत यहां चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडोर बना रहा है। क्षेत्रीय लोगों ने कहा कि चीन यह रोड न केवल गिलगित, बल्कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस फैलाने के लिए बना रहा है। इस निर्माण कार्य में बड़ी संख्या में चीनी मजदूर लगाए गए हैं।

loading...
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.